NATIONAL NEWS

07, March

मूर्ति तोड़ मामला: बोले गिरिराज सिंह, अपने गिरेबान में झांके वामपंथी

NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। देश में मूर्ति तोड़ की राजनीति चरम पर है। पहले त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति ढहाई गई, उसके बाद तमिलनाडु में पेरियार, पश्चिम बंगाल में श्यामा प्रसाद मुखर्जी और अब उत्तर प्रदेश में बाबा साहेब अंबेडकर की मूर्तियां तोड़ी जा चुकी हैं। इस मामले में बीजेपी के मंत्री गिरिराज सिंह ने बयान दिया है। वामपंथी नेता गिरेबान में झांके त्रिपुरा में बीजेपी की जीत के बाद वहां व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति गिराए जाने के बाद से देशभर में लगातार मूर्ति गिराने का सिलसिला चल रहा है। इस घटना को लेकर वामपंथी दल ने बीजेपी पर निशाना सधा था। गिरिराज सिंह ने इसका जवाब देते हुए कहा कि BJP पर उंगली उठाने से पहले वामपंथी नेताओं को अपने गिरेबान में झांक कर देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल, केरल और त्रिपुरा में वामपंथी सरकारों के शासनकाल में हजारों निर्दोष लोगों का कत्ल हुआ, इसीलिए वामपंथी लोगों को हिंसा पर सवाल उठाने का नैतिक हक नहीं है। सावरकर की मूर्ति तोड़ने पर ताली बजा रहे थे वामपंथी सिंह ने वामपंथी पर हमला बोलते हुए कहा कि जब अंडमान निकोबार में वीर सावरकर की मूर्ति तोड़ी जा रही थी, तो वामपंथी लोग तालियां बजा रहे थे। सीताराम येचुरी हमें गाली ना दें क्योंकि आरएसएस के बराबर में आने के लिए उन्हें हजार बार गंगा में डुबकी लगानी पड़ेगी। BJP तोड़फोड़ में नहीं वैचारिक परिवर्तन में रखती है भरोसा केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हमारी पार्टी के लोग इतिहास के साथ तोड़फोड़ नहीं करती है। बीजेपी वैचारिक परिवर्तन में भरोसा रखती है। यही कारण है कि त्रिपुरा में हमारी सरकार वैचारिक परिवर्तन की वजह से बनी। गिरिराज ने वामपंथी को जवाब देते हुए कहा कि ये लोग देशद्रोही है, क्योंकि ये खाते भारत का है और गारते चीन की है।

NATIONAL NEWS


NATIONAL NEWS