LOCAL NEWS

07, March

बेतवा नदी की सेंटर मौरंग खदान में हो रहे मौरंग खनन के खिलाफ तीन दिन से जारी धरने का असर | जिलाधिकारी आरपी पाण्डेय नेतीन सदस्यीय कमेटी की गठित ||

LOCAL NEWS

बेतवा नदी की सेंटर मौरंग खदान में हो रहे मौरंग खनन के खिलाफ तीन दिन से जारी धरने का असर होने लगा है। जिलाधिकारी आरपी पाण्डेय ने खनन की वजह से बेतवा नदी के पुल, हाईटेंशन लाइन के टॉवर और रमेड़ी पंप कैनाल को उत्पन्न हुए खतरे के मद्देनजर तीन सदस्यीय कमेटी गठित की है। जो तीन दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी। अवैध खनन के खिलाफ हाईकोर्ट में रिट दाखिल करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता विजय द्विवेदी एडवोकेट पिछले तीन दिनों से बेतवा नदी की सेंटर मौरंग खदान में हो रहे खनन के खिलाफ धरने पर है। धरने में राजनैतिक दलों के साथ ही किसान संगठन भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। धरने के पहले दिन 5 मार्च को विजय द्विवेदी की अगुवाई में डीएम को ज्ञापन सौंपा गया था। उसके बाद से लगातार धरना जारी है। जिलाधिकारी आरपी पाण्डेय ने ज्ञापन में की गई मांगों के मद्देनजर तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित की है। जिसमें अपर जिलाधिकारी केबी अग्रवाल, खनिज अधिकारी और अधिशाषी अभियंता सिंचाई को रखा गया है। कमेटी धरने में की जा रही मांगों के मद्देनजर अपनी जांच रिपोर्ट तीन दिन के अंदर डीएम को सौंपेगी। बुधवार को तीसरे दिन गोल चबूतरे में इन्हीं मांगों को लेकर धरना जारी रहा। जिसमें मुख्य रूप से राधेश्याम पाण्डेय, बसपा नेता विमल वर्मा, अंजनी शुक्ला, राजेश तिवारी, रामदास सविता, संतोष निषाद, राजेंद्र निषाद, नागेंद्र सिंह, आत्माराम पाण्डेय, अनुराग पाण्डेय, अनीस खान, रामजी तिवारी, महंत रतन ब्रह्मचारी, कमाल हुसैन, संजय धुरिया, ब्रजेंद्र कुमार आदि शरीक हुए। सरीला तहसील के कुपरा गांव में निजी भूमि को ई-टेंडरिंग में शामिल करने के विरोध में किसान भी धरने में डटे रहे।

LOCAL NEWS


LOCAL NEWS