NATIONAL NEWS

08, March

बिजली आपूर्ति पर मंत्री ने अधिकारियों को सुनाई खरी-खरी

NATIONAL NEWS

पावर कारपोरेशन ने सीएम के शहर में लोकल फाल्ट व शटडाउन के नाम पर बिजली कटौती से उपभोक्ताओं को हो रही दिक्कत को गंभीरता से लिया है। अब अघोषित कटौती के साथ ही सिस्टम सुधार के नाम पर लिए जाने वाले शटडाउन की हकीकत को जानने का निर्णय लिया है। बिजली आपूर्ति में लापरवाही पर पावर कारपोरेशन की इस सख्ती से अभियंताओं के होश उड़ गए है। वीडियो कान्फ्रेसिंग में ऊर्जामंत्री ने अधिकारियों के 24 घण्टा बिजली आपूर्ति के दावे पर सवाल उठाते हुए कहा कि महज 16 से 17 घण्टा बिजली आापूर्ति होने का फीडबैक मिल रहा है। समीक्षा ऊर्जा निगम के चेयरमैन ने फीडरवार बिजली आपूर्ति का विवरण तलब किया शहर में 24 घण्टा बिजली आपूर्ति के दावे पर ऊर्जामंत्री ने उठाया सवाल शुक्रवार को वीसी में मंत्री बोले कि16 से 17 घण्टे बिजली आपूर्ति हो रही है कारपोरेशन अघ्यक्ष ने तलब किया 103 फीडरों की एमआरआई रिपोर्ट मुख्य अभियंता के निर्देश पर छह टीम पूरे दिन एमआरआई करने में जुटी रही पावर कार्पोरेशन के चेयरमैन ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान कम बिजली आपूर्ति पर नाराजगी जताते फीडरवार बिजली आपूर्ति कीएमआरआई रिपोर्ट तलब की। चेयरमैन आलोक कुमार के रुख को गंभीरता से लेते हुए मुख्य अभियंता (गोरखपुर जोन) ए.के. सिंह ने 21 सब स्टेशनों से निकलने वाले 11 केवी के 103 फीडर मीटरों की एमआरआई जांच कराने का आदेश दिया है। मुख्य अभियंता द्वारा गठित टीम शनिवार को फीडरों की एमआरआई करने में जुटी रही। फीडरों की एमआरआई रिपोर्ट से बिजली आपूर्ति की सच्र्चाई सामने आएगी शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में मुख्य अभियंता एके सिंह ने बताया कि 11 केवी फीडर पर लगे मीटरों की एमआरआई जांच के लिए 6 टीम बनाई गई है। टीम में शामिल अधिकारी 24 घंटे में अपनी रिपोर्ट देंगे। उन्होंने बताया कि फीडर पर लगे मीटरों की एमआरआई जांच से विद्युत आपूर्ति की सच्चाई सामने आ जाएगी। इसके साथ ही विद्युत उपकेन्द्रों पर रखे गये लागशीट की जांच भी कराई जाएगी। लागशीट पर बिजली आपूर्ति का गलत आकड़ा मिलने पर सम्बन्धित एसएसओ क खिलाफ सख्त कर्रवाई होगी। एमआरआई रिपोर्ट रविवार तक चेयरमैन को भेजी जाएगी। एमआरआई रिपोर्ट से यह पता चल जाएगा कि फीडर पर कब-कब बिजली कटौती हुई। कितना लोड और कितने यूनिट बिजली खपत हुई। श्री सिंह ने कहा कि शहर में बिजली आपूर्ति व्यवस्था को बेहतर बनाने के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी निर्धारित शेड्यूल के मुताबिक आपूर्ति व्यवस्था को सुनिश्चित करने के निर्देश सभी अभियंताओं को दिया है। उन्होंने बताया कि वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान पावर कारपोरेशन के चेयरमैन द्वारा कम विद्युत आपूर्ति पर नाराजगी जताने के बाद फीडर मीटरों की एमआरआई जांच कराने का निर्णय लिया गया है।

NATIONAL NEWS


NATIONAL NEWS