LOCAL NEWS

07, April

एक अप्रैल से टोल टैक्स में पांच फीसद की बढ़ोत्तरी से उपजा असंतोष अब सड़क पर आ गया है।

LOCAL NEWS

कानपुर देहात: संसाधनों व सुविधाओं की अनदेखी कर एक अप्रैल से टोल टैक्स में पांच फीसद की बढ़ोत्तरी से उपजा असंतोष अब सड़क पर आ गया है। रविवार को अकबरपुर के आक्रोशित व्यापारियों, दैनिक यात्रियों व सामाजिक संगठनों ने अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र कें बारा के पास स्थित टोल प्लाजा पर पहुंचकर नारेबाजी करने के साथ ही एनएचएआइ का पुतला फूंककर आक्रोश जताया। इसके साथ ही नगर व देहात के वाहनों को टोल मुक्त करने की मांग की सिकंदरा भौती हाइवे पर अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के बारा गावं के पास बने टोल प्लाजा से प्रतिदिन लगभग 22 हजार वाहन निकलते हैं। टोल अफसरों के अनुसार इनमें से करीब 13 हजार वाहन पास वाले हैं। जबकि शेष वाहनों से करीब 32 लाख रुपये प्रतिदिन टोल टैक्स वसूल होता है। बावजूद इसके हाइवे पर प्रकाश व्यवस्था, टूटी सर्विस रोड, दुर्घटनाओं के घायलों के त्वरित उपचार की व्यवस्था , टोल पर शौचालय, कैंटीन आदि सुविधाओं की बराबर अनदेखी हो रही है। इन समस्याओं की अनदेखी के साथ ही 1 अप्रैल से 5 फीसद तक टोल बढ़ाए जाने से लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया है। पिछले रविवार रात से सुविधाओं की अनदेखी कर टोल कर्मियों द्वारा बढ़ी हुई नई दरों के अनुसार टोल की वसूली शुरू करने से लोगों में व्याप्त नाराजगी की खबर जागरण ने 2 अप्रैल को प्रकाशित की थी। एक सप्ताह बाद लोगों का आक्रोश अंतत: खुलकर सड़क पर आ गया। रविवार को उद्योग व्यापार मंडल के जिला मंत्री संतोष ओमर, रामलीला समिति अकबरपुर के अध्यक्ष श्यामू ओमर, भाजपा के दीपू मिश्रा, गोपाल सैनी, विपिन दीक्षित अधिवक्ता, दीपक राणा, सभासद छोटे खां, सनद शुक्ला, श्याम तिवारी, आरिफ राइन, गोविंद, अनूप त्रिपाठी गोरे, राजन भदौरिया, टोनी श्रीवास्तव, बीटू दुबे, पूतीलाल पूर्व सभासद मेराज कुरैशी आदि के साथ एक सैकड़ा लोगों व वाहन स्वामियों तथा चालकों ने बारा टोल प्लाजा पर पहुंचकर नारेबाजी के साथ प्रदर्शन कर बढ़ी दरों को वापस लिए जाने, कानपुर नगर व देहात के वाहनों को टोल प्री करने की मांग की। इसके साथ ही हाइवे प्राधिकरण का पुतला फूंककर आक्रोश जताया। टोल मैनेजर मनोज शर्मा का कहना है कि ट्रांसफार्मर व केबिल चोरी की घटनाओं से मार्ग प्रकाश व्यवस्था बाधित हो रही है। इस बावत कई बार एफआइआर करने के बाद भी चोरों पर लगाम नहीं कसी जा सकी। उन्होने बताया कि करीब पांच सौ वाहन प्रतिदिन टोल से फ्री में निकलते हैं। टोल पर अधिक भार क्षमता वाले वाहनों से दस गुना शुल्क वसूली व टोल टैक्स बढाने का प्रावधान भारत सरकार के स्तर से हुआ है।उन्होने सुविधाओं की अनदेखी के आरोप को नकारते हुए कहा कि जल्द ही खामियों को दुरुस्त कराया जाएगा।