NATIONAL NEWS

05, March

किसानों के लिए गन्ना हुआ कड़वा, बकाया भुगतान 14 हजार करोड़ के करीब

NATIONAL NEWS

केंद्र सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद भी गन्ने का बकाया भुगतान लगातार बढ़ रहा है, देशभर की चीनी मिलों पर किसानों का बकाया बढ़कर करीब 13,900 करोड़ रुपये 31 जनवरी 2018 तक हो गया है। बकाया भुगतान में हो रही रही देरी से गन्ना किसानों में आक्रोश बढ़ रहा है। अत: जल्द ही बकाया भुगतान में तेजी नहीं आई तो इसका असर गन्ना उत्पादक राज्यों में लोकसभा चुनाव-2019 में देखने को मिल सकता है। सूत्रों के अनुसार सबसे ज्यादा बकाया भुगतान उत्तर प्रदेश के किसानों का राज्य की चीनी मिलों पर करीब 5,033.58 करोड़ रुपये, महाराष्ट्र की मिलों पर राज्य के किसानों का 2,636.03 करोड़ रुपये तथा कर्नाटका की चीनी मिलों पर बकाया राशि बढ़कर 2,713.65 करोड़ रुपये हो चुकी है। इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (इस्मा) के महानिदेशक अविनाश वर्मा ने आउटलुक को बताया कि चीनी के भाव उत्तर प्रदेश में एक्स फैक्ट्री 3,300 रुपये और महाराष्ट्र में 3,020 रुपये प्रति क्विंटल है। देशभर में चीनी के औसतन भाव 3,150 रुपये प्रति क्विंटल एक्स फैक्ट्री है जबकि औसतन लागत 3,500 रुपये प्रति क्विंटल की आ रही है। ऐसे में चीनी मिलों को करीब 350 रुपये प्रति क्विंटल का घाटा लग रहा है। केंद्र सरकार ने चीनी मिलों को राहत देने के लिए आयात शुल्क को 50 फीसदी से बढ़ाकर 100 फीसदी कर दिया है, साथ ही फरवरी और मार्च में चीनी बेचने के लिए मिलों पर लिमिट भी तय कर रखी है, इससे चीनी के भाव में सुधार तो आया था, लेकिन तेजी नहीं बन पाई। अत: अभी भी चीनी के भाव नीचे ही बने हुए हैं।

NATIONAL NEWS


NATIONAL NEWS