NATIONAL NEWS

05, March

ग्रामीण भारत में करीब 24 फीसदी ग्रेजुएट युवा बेरोजगार

NATIONAL NEWS

आंकड़ों के मुताबिक 18 से 29 वर्ष तक के 2.3 फीसदी अशिक्षित युवा बेरोजगार हैं तो दूसरी तरफ स्रातक या उससे ऊपर तक की पढ़ाई करने वाले युवाओं में 23.8 फीसदी बेरोजगार हैं। देश के ग्रामीण क्षेत्रों में 29 वर्ष की आयु तक के 23.9 फीसदी ऐसे युवा बेरोजगार हैं जिन्होंने स्रातक या इससे ऊपर की शिक्षा हासिल कर रखी है। लोकसभा में सदाशिव लोखंडे के प्रश्न के लिखित उत्तर में श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने सोमवार को यह जानकारी दी। गंगवार ने अपने मंत्रालय की अधीनस्थ संस्था श्रम ब्यूरो की ओर से 2015-16 में ग्रामीण क्षेत्रों में कराए गए सर्वेक्षण के आंकड़े पेश किए। इन आंकड़ों के मुताबिक 18 से 29 वर्ष तक के 2.3 फीसदी अशिक्षित युवा बेरोजगार हैं तो दूसरी तरफ स्रातक या उससे ऊपर तक की पढ़ाई करने वाले युवाओं में 23.8 फीसदी बेरोजगार हैं। मंत्री ने इस सर्वेक्षण के हवाले से कहा कि प्राथमिक स्तर की पढ़ाई करने वाले 3.3 फीसदी और माध्यमिक/उच्चतर माध्यमिक की पढ़ाई करने वाले 3.7 फीसदी युवा बेरोजगार हैं। उन्होंने राज्यवार ब्यौरा भी पेश किया। इसके अनुसार सिक्किम में स्रातक या इससे ऊपर तक की डिग्रीधारकों में 82.5 फीसदी युवा बेरोजगार हैं। इसी तरह लक्षद्वीव में 73 फीसदी, त्रिपुरा में 50.3 फीसदी, झारखंड में 39 फीसदी और हिमाचल प्रदेश में 40.8 फीसदी स्रातक युवा बेरोजगार हैं। वहीं दूसरी तरफ, सरकार ने सोमवार को कहा कि पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा दिए जाने का कोई प्रस्ताव नहीं है। लोकसभा में कौशलेंद्र कुमार के प्रश्न के लिखित उत्तर में मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘‘पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा देने का कोई प्रस्ताव नहीं है।’’ मंत्री ने कहा कि बिहार में पहले से ही तीन केंद्रीय विश्वविद्यालय- दक्षिण बिहार केंद्रीय विश्वविद्यालय, महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय और नालंदा विश्वविद्यालय चल रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘राष्ट्रीय विकास परिषद द्वारा 11वीं योजना (2007-12) में देश में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने और उसकी पहुंच बढ़ाने तथा उच्च शिक्षा में क्षेत्रीय असंतुलन को दूर करने के लिए उन सभी राज्यों में एक-एक केंद्रीय विश्वविद्यालय की परिकल्पना की गई थी जिनमें उस वक्त कोई केंद्रीय विश्वविद्यालय नहीं था।’’ बता दें कि संसद में सोमवार को करीब एक माह के अंतराल के बाद शुरु हुआ बजट सत्र के दूसरे चरण का पहला दिन दोनों ही सदनों में बैंक घोटालों सहित विभिन्न मुद्दों पर सरकार को घेरने के विपक्षी दलों के सदस्यों द्वारा किए गए हंगामे की भेंट चढ़ गया।

NATIONAL NEWS


NATIONAL NEWS